बंदेया | दिल जंगली | अरिजीत सिंह लिरिक्स इन हिन्दी

bandeya lyrics daily creation


लिरिक्स:- 

चल चल वे तू बंदेया उस गलिये
जहां कोई किसी को ना जाने

चल चल वे तू बंदेया उस गलिये
जहां कोई किसी को ना जाने
क्या रहना वहाँ पर सुन बंदेया
जहां अपने ही ना पहचाने
रह गए हैं जो तुझमें
मेरे लम्हे लौटा दे
मेरी आँखों में आके
मुझे थोड़ा रुला दे
चल चल वे तू बंदेया उस गलिये
जहां कोई किसी को ना जाने
हम्म..
ख्वाब जो हुए हैं खंडर
ख्वाब ही नहीं थे
इक नींद थी नीम सी
हाय
खो दिया है तूने जिसको
तेरा ही नहीं था
इक हार थी जीत सी
कितना रुलाएगा ये तो बता
रब्बा वे तुझे है तेरे रब दा वास्ता
चल चल वे तू बंदेया उस गलिये
जहां कोई किसी को ना जाने
क्या रहना वहाँ पर सुन बंदेया
जहां अपने ही ना पहचाने
हम्म..
MOST LIKELY POSTS:-

उसका ही बना | 1920 – एविल रिटर्न्स | अरिजीत सिंह लिरिक्स इन हिन्दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *